UP Shikshak Bharti 2024: यूपी में 80000 पदों पर नई प्राथमिक शिक्षक भर्ती को लेकर आया जबाब, नए शिक्षा आयोग की टीजीटी पीजीटी परीक्षा की तैयारी

Bharat Versh
6 Min Read
UP Shikshak Bharti 2024

UP Shikshak Bharti 2024: पहली बात की उत्तर प्रदेश में शिक्षक भर्ती के लिए डीएलएड, बीटीसी, टैक्सी टेट पास अभ्यर्थी जो पिछले 5 सालों में लगातार इंतजार कर रहे थे और ऐसे ही सभी अभ्यर्थी को थोड़ा और इंतजार करना पड़ सकता है।

अबकी बार तो उत्तर प्रदेश में प्राथमिक शिक्षक के जो लाखों पदों पर रिक्त है। इन पदों पर भरती के लिए जो अभ्यर्थी पिछले 5 सालों से ही शिक्षक भर्ती के लिए इंतजार कर रहे थे। पर लेकिन सरकार द्वारा 2018 में ही कोई भी नहीं शिक्षक भर्ती नहीं करी गई है।bजिसको लेकर ही डीएलएड, बीटीसी, टेट पास भर्ती है। उनको काफी एक निराशा को सहना पड़ा है। शिक्षक भर्ती को लेकर और विभाग द्वारा नहीं जानकारी भी दी गई है।

आजाओ मेरे व्हाट्सएप के धुरन्दर Join Now
Telegram पर भी पाए जटपट खबरे Join Now
इंस्टा पर भी आजाए ये Join Now

UP Shikshak Bharti Latest Update

उत्तर प्रदेश में जो बेसिक शिक्षा निदेशक है। जो की प्रताप सिंह बघेल द्वारा ही यह शिक्षक भर्ती को लेकर एक बात बताई गई है कि अभी सरकार की प्राइमरी शिक्षकों की जो नई भर्ती निकलने की कोई भी योजना इसमें नहीं है विद्यार्थियों और शिक्षकों का जो अनुपात है बिल्कुल सही है। इस वक्त तो बेसिक शिक्षा विभाग के अंतर्गत ही परिषदीय विद्यालयों में इतनी छात्र पर एक टीचर तय है और ऊपर प्राइमरी 35 छात्रों पर एक टीचर तय है। इसी अनुपात को लेकर हम लोग एक बराबरी रखे हुए हैं। उसको लेकर अनुपात भी बराबर होने के कारण ही पठन-पाठन के लिए उनके काम में कोई भी दिक्कत नहीं आ रही है।

तो नए शिक्षक भर्ती को लेकर राज्य सरकार के इस रूप से शिक्षक भर्ती का जो इंतजार करने वाले अभ्यर्थी है। उनको निराशा और ज्यादा बढ़ गई है, कि छात्र काफी लंबे समय से ही नए शिक्षक भर्ती निकलने को लेकर इंतजार कर रहे है।

इसमें ही प्राथमिक विद्यालय में चार लाख से भी ज्यादा पदों पर प्रधानाध्यापक और सहायक अध्यापक के जो स्वीकृत है। उनको इन पदों के लिए सापेक्ष 85000 से भी ज्यादा पदो तो खाली है। सरकार के अनुसार तो शिक्षामित्र और अनुदेशकों को मिलाकर छात्र शिक्षक का जो अनुपात सहित चल रहा है। जिसकी पढ़ाई में किसी प्रकार की दिक्कत नहीं हो रही है। साथ ही साथ में 12460 शिक्षक भर्ती के बचे हुए जो 5000 से भी ज्यादा शिक्षकों को विचारों में नियुक्ति मिलने जा रही है।

प्रदेश के 27931 प्राइमरी स्कूलों में 50 से कम छात्र बंद करने की तैयारी?

जो भी इसमें परिषदीय विद्यालय है उनमें नामांकित स्थिति की घटना के कारण ही यू डाइट पोर्टल पर 27931 स्कूलों में 50 से भी काम ज्यादा छात्रों का जो नामांकन है। वह एक ही दर्जन से अधिक कंपोजिट विद्यालय ऐसे है जिसमें नामांकन नहीं है। जबकि कहीं दर्जन तो ऐसे स्कूल है। जिसमें केवल और केवल दो ही छात्र पढ़ रहे सरकार द्वारा इसे सभी विद्यालयों को सप्तीकरण मांगा गया है।

UP Shikshak Bharti 2024
UP Shikshak Bharti 2024

गाजियाबाद नोएडा जैसे शहरों में 230 से अधिक सरकारी स्कूलों में 50 से भी काम छात्र संख्या है। फिर तो गौतम बुद्ध नगर में 511 प्राथमिक और उच्च प्राथमिक स्कूल हैं। जहां पर तो 152 स्कूलों में बहुत ही कम छात्र संख्या बची है। इसी तरह से ही इसमें प्रदेश के अधिकतर सभी जिलों में ऐसे बहुत से स्कूल हैं। जहां पर तो छात्र संख्या 50 से नीचे पहुंच गई है। और ये जो भी अध्यापकों की संख्या छात्र अनुपात से काफी अधिक हो गई है।

नई शिक्षक भर्ती का करना पड़ सकता है इंतजार

ऐसे में तो सभी छात्रों को शिक्षक भर्ती का इंतजार कर रहे तो उन्हें सभी ओर से इंतजार भी करना पड़ रहा है। फिलहाल तो नई शिक्षा सेवा चयन आयोग के जो गठन है। उनकी कार्यवाही भी काफी चल रही है। नई शिक्षा चयन में जो गठन की कार्यवाही वह पूर्ण होने के बाद ही लंबी भरतीयों को यह पूरा करने वाले हैं। शिक्षा सेवा चयन आयोग द्वारा लंबी जो भरतीयों है।

उनमें अप टीजीटी पीजीटी का जो एग्जाम है। वह असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्ती का एग्जाम है। जो पहले ही आयोजित कराया जाएगा हालांकि वह नए शिक्षा भरती को लेकर छात्राओं द्वारा आयोजन आंदोलन का ऐलान भी किया गया है। अगर उसमें नए शिक्षक भर्ती चलते नहीं निकाली जाती है तो प्रदेश भर के डीएलएड, यूपीटेट, सीटेट पास अभ्यर्थी आंदोलन करेंगे।

आगे पढ़े

Share This Article
Leave a comment